Krishna Janmashtami shayari


✳️
पलके झुका के नमन करे, 
मस्तक झुका के वंदना करे, 
ऐसी नज़र दे दे मेरे कान्हा 
जो बंद होते ही आपके दीदार करे. 
 कृष्णा जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाये
✳️ ✳️
मिश्री से मीठे नन्द लाल के बोल, 
इनकी बातें हैं सबसे अनमोल,
 जन्माष्टमी के इस पावन अवसर पर,
 दिल खोल के जय श्री कृष्ण बोल. 
Happy Krishna Janmashtami
✳️ ✳️ ✳️
राधा की भक्ति, मुरली की मिठास,
 माखन का स्वाद और गोपियों का रास, 
सब मिलके बनाता हैं जन्माष्टमी का दिन ख़ास.
 Happy Janmashtami  
✳️ ✳️ ✳️ ✳️
रूप बड़ा प्यारा है, 
चेहरा बड़ा निराला है बड़ी से बड़ी मुसीबत को कन्हैया जी ने पल भर में हल कर डाला है!! 
हैप्पी जन्माष्टमी
✳️ ✳️ ✳️ ✳️ ✳️
हरे कृष्ण हरे कृष्ण! 
कृष्णा कृष्णा हरे हरे !! 
हरे राम हरे राम ! 
राम राम हरे हरे !!! 
श्री कृष्ण जन्माष्टमी
✳️ ✳️ ✳️ ✳️ ✳️ ✳️
चंदन की ख़ुशबू को रेशम का हार 
सावन की सुगंध और बारिश की फुहार 
राधा की उम्मीद को कन्हैया का प्यार 
मुबारक हो आपको जन्माष्टमी का त्यौहार 
हैप्पी जन्माष्टमी
✳️ ✳️ ✳️ ✳️ ✳️ ✳️ ✳️
बंसी बजाकर सबको है नचाया 
माखन चुराकर भी खूब है खाया 
जिसने दुनिया को खुशी से जीना सिखाया 
उस कान्हा के जन्मदिन का त्यौहार है आया 
शुभ जन्माष्टमी
✳️ ✳️ ✳️ ✳️ ✳️ ✳️ ✳️ ✳️

Post a Comment

0 Comments